गर्मियों के मौसम में दही रोज खाना चाहिये इसके लाभ होते हैं बहुत अनमोल

गर्मियों के मौसम में दही रोज खाना चाहिये इसके लाभ होते हैं बहुत अनमोल

गर्मियों के मौसम में दही
गर्मियों के मौसम में दही

गर्मी का मौसम आते ही शरीर पर लू लगने से बीमार पड़ने का खतरा बढ़ने लगता है और जरूरत होती है कुछ इस तरह के खानपान की जो गर्मी के दुष्परिणामों से शरीर की रक्षा कर सके । दही का सेवन इस दिशा में एक बहुत अच्छा विकल्प होता है । आज हम आपको बता रहे हैं गर्मियों के मौसम में दही रोज खाने से शरीर को कौन कौन से लाभ मिलते हैं ।

गर्मियों के मौसम में दही रोज खाने से हड्डियॉ बनती हैं मजबूत :-

दही के अंदर कैल्शियम बहुत अच्छी मात्रा में पाया जाता है । कैल्शियम शरीर में हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए बहुत जरूरी होता है । दही में मौजूद यह कैल्शियम आंतों के द्वारा पूरी तरह से अवशोषित कर लिया जाता है और शरीर को इसका पूरा पूरा लाभ मिलता है, जिस कारण से दही का सेवन गर्मियों के मौसम में रोज करने से हड्डियॉ मजबूत बनती हैं ।

गर्मियों के मौसम में दही रोज खाने से आंते बनती हैं मजबूत :-

दही में गुड बैक्टिरिया पाया जाता है जो आंतों में जाकर हानिकारक खराब बैक्टिरिया को समाप्त करता है और आंतों की कार्यशक्ति को बढ़ाता है । दही का सेवन गर्मियों के मौसम में रोज करने से आंतों में खुश्कि की समस्या भी पैदा नही होती है और आंते मजबूत बनती हैं ।

गर्मियों के मौसम में दही रोज खाने से नही होती पानी की कमी :-

दही का सेवन गर्मियों के मौसम में रोज करने से शरीर में पानी की कमी नही होती है । इसलिये कहा भी जाता है कि यदि गर्मी के दिनों में लू से बचना है तो घर से निकलने से पहले एक कटोरी दही जरूर खाकर जाना चाहिये । यह शरीर में पानी की पूर्ति तो करता ही है साथ ही साथ शरीर से पानी की ज्यादा हानि भी नही होने देता है ।
गर्मियों के मौसम में दही रोज खाने से मिलने वाले फायदों की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से ही सही जानकारी किसी जरूरतमंद तक पहुँचती है और हमको भी आपके लिए और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के समबन्ध में आपके कुछ सुझाव हों तो कृपया कमेण्ट के माध्यम से हमको जरूर सूचित कीजियेगा ।

दस दिन में तीन किलो तक वजन कम हो जाता है इस ड्रिंक से सही तरीके से पीना इसको

1713 Post Views: 14 Views:
Please follow and like us:
178

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *