दालचीनी से मिलने वाले 12 स्वास्थय लाभ

दालचीनी से मिलने वाले 12 स्वास्थय लाभ

दालचीनी
दालचीनी

दालचीनी सिर्फ रसोई में काम आने वाला एक मसाला भर नही है जो कि खाने का स्वाद बढ़ा देता है बल्कि यह एक बहुत ही गुण्कारी जड़ी भी है जिसका प्रयोग कई आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है । इस लेख में प्रकाशित आयुर्वेदिक क्लीनिक, मेरठ के सौजन्य से हम आपको दालचीनी से मिलने वाले बारह स्वास्थय लाभों की जानकारी दे रहे हैं जो आपके बहुत काम आयेंगी ।

दालचीनी मधुमेह का इलाज करती है :-

दालचीनी को गरीब आदमियों का इंसुलिन कहा जाये तो गलत नही होगा । टाईप 2 के मधुमेह के रोगियों के लिये इसका सेवन बहुत लाभकारी होता है । ऐसे रोगियों को रोज सुबह खाली पेट 2 ग्राम दालचीनी चूर्ण का सेवन 50 मिलीलीटर करेले के रस के साथ करना चाहिये । इस प्रयोग से शरीर में शुगर का स्तर नियन्त्रित रहता है ।

दालचीनी से होता है कोलेस्ट्रॉल कण्ट्रोल :-

कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से शरीर में कई हृदय रोग और उनके लक्षण पैदा होने का खतरा हो जाता है । लेकिन यदि रोज सुबह 3 ग्राम दालचीनी चूर्ण को एक चम्मच शहद और एक गिलास गुनगुने गरम पानी के साथ खाली पेट सेवन किया जाये तो यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने नही देती है । कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिये यह प्रयोग बहुत लाभकारी होता है ।

दालचीनी से मिलता है उल्टी दस्त में आराम :-

बहुत ज्यादा उल्टी दस्त होने पर भी यह समान रूप से गुणकारी और लाभकारी सिद्ध होती है । 3 ग्राम दालचीनी के चूर्ण को एक गिलास गरम पानी और एक ग्राम सेंधा नमक के साथ मिलाकर हर चार-पाँच घण्टे बाद सेवन करने से यह उल्टी दस्त की समस्या दूर हो जाती है ।

दालचीनी से होता है अस्थमा का समाधान :-

अस्थमा आजकल के प्रदुषण वाले महौल में बहुत तेजी से फैलने वाला रोग बनता जा रहा है । अस्थमा की समस्या जब ज्यादा बढ़ जाये तो उस समय दो ग्राम दालचीनी के चूर्ण को 5 ग्राम पुराने गुड़ की डली के साथ सेवन करके गरम पानी पीना चाहिये । अस्थमा के वेग में आराम मिलेगा ।

दालचीनी से होता है सर्दी खाँसी का इलाज :-

दालचीनी में एण्टी फंगल और एण्टी बैक्टीरियल गुण पाये जाते हैं जो सर्दी और खाँसी की समस्या में बहुत लाभ पहुँचाते हैं । शहद के साथ दालचीनी के पाउडर को मिलाकर चाटने से सर्दी और खाँसी के लक्षण दूर होते हैं ।

दालचीनी में छिपा है सिर दर्द का इलाज :-

काम की अधिकता और तनाव पूर्ण जीवन शैली के कारण अगर सिर में दर्द रहने लग गया है तो इसका समाधान भी इस दिव्य औषधि में छिपा है । दालचीनी को गरम पानी के साथ पत्थर के सिल पर घिसकर पेस्ट बना लें । इस पेस्ट को माथे पर लेप कर लें । आधे घण्टे बाद इसको साफ कर लें । इतनी देर में आपको सिर के दर्द से राहत मिल जायेगी ।

दालचीनी कारगर है कान के दर्द में भी :-

कान में दर्द रहता हो और सुनाई भी कम देने लगा हो तो ऐसे में दालचीनी का तेल कान में एक दो बूँद रोज एक बार डालने से लाभ मिलता है । यह तेल आपको अपने आसपास किसी जड़ी बूटी वाले के पास अथवा आयुर्वेदिक दवाओं की दुकान पर आसानी से मिल जायेगा, एक बार इसका लाभ जरूर उठायें ।

दालचीनी करती है गैस की समस्या का समाधान :-

गैस की समस्या में दालचीनी एक बहुत ही कारगर औषधि सिद्ध होती है । 3 ग्राम चूर्ण को चार पाँच पोदीने के पत्तों के साथ चबा कर खाने और गरम पानी पी लेने से गैस की समस्या का समाधान हो जाता है । यह प्रयोग बहुत से रोगियों पर आजमाया हुआ है और इसके परिणाम वास्तव में अच्छे मिलते हैं ।

दालचीनी से मिलता है जोड़ों के दर्द में आराम :-

गुनगुने पानी में दालचीनी पाउडर और शहद मिलाकर इस पेस्ट से दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से जोड़ों के दर्द में बहुत उत्तम लाभ मिलता है । साथ ही यदि दालचीनी का सेवन गरम दूध के साथ किया जाये तो यह हड्डियों और जोड़ों को मजबूत बनाता है ।

दालचीनी से दूर होती हैं स्किन की समस्याऐं :-

स्किन के रोगों जैसे कि खाज खुजली और रंगत उड़ने की समस्या में भी यह बहुत लाभकारी सिद्ध होती है । दालचीनी के चूर्ण को नीम्बू के रस के साथ मिलाकर त्वचा पर रगड़ने से यह खाज खुजली को तो दूर करती ही है साथ ही त्वचा की रंगत निखारने का काम भी करती है । यह प्रयोग चेहरे के कील-मुँहासों की समस्या में लाभ करता है ।

दालचीनी बनाती है दिल को मजबूत :-

आजकल की तनाव वाली लाईफ जीने से दिल की कमजोरी एक आम समस्या बन गयी है । दिल को मजबूत बनाने के लिये भी रसोई में छिपी इस दिव्य औषधि का बहुत लाभ मिलता है । बस इतना करना है कि दालचीनी के चूर्ण को रोज रात को सोते समय गाय के दूध के साथ सेवन करना है । यह दिल के घबराने और धड़कन बढ़ने की समस्या का भी इलाज करती है ।

दालचीनी से कम होता है मोटापा :-

दालचीनी से मिलने वाले स्वास्थय लाभों की जानकारी इसके मोटापा घटाने वाले गुण की चर्चा के बगैर पूरा नही हो सकता है । 10 ग्राम दालचीनी को 300 मिलीलीटर पानी के साथ घोलकर काढ़ा पकायें । जब आधा शेष रहे तो इसको ठण्डा करके इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर रोज सुबह और शाम को पीने से यह शरीर पर जमी अतिरिक्त चर्बी को खत्म करता है । यह शरीर को ज्यादा कैलोरी जमा करने से भी रोकता है और मेटाबॉलिज़्म को ठीक करने का काम भी करता है ।
दालचीनी से मिलने वाले स्वास्थय लाभों की जानकारी वाले इस लेख में दिये गये सभी प्रयोग हमारी समझ में पूरी तरह से हानिरहित हैं । फिर भी आपके आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्श के बाद ही इनको प्रयोग करने की हम आपको सलाह देते हैं । आपका चिकित्सक आपके शरीर और रोग के बारे में सबसे बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्प नही होता है । ध्यान रखें कि घरेलू नुस्खे किसी रोग की सम्पूर्ण चिकित्सा का विकल्प नही होते हैं । अपने रोगों की सम्पूर्ण आयुर्वेदिक चिकित्सा के लिये अपने आयुर्वेदिक चिकित्सक से जरूर परामर्श करें ।
प्रकाशित आयुर्वेद क्लीनिक, मेरठ के सौजन्य से दालचीनी से मिलने वाले स्वास्थय लाभों की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँच सकती है और हमको भी आपके लिये और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के समबन्ध में आपके कुछ सुझाव हो तो हमें कमेण्ट के माध्यम से जरूर बतायें ।

ईसबगोल के पाँच तरह के विशिष्ट योग, बिल्कुल नई जानकारी

12485 Post Views: 4 Views:
Please follow and like us:
58

Comments are closed.