नीम के पत्तों से मिलते हैं इतने गुणकारी लाभ तभी तो कहते हैं इसको हकीम

नीम के पत्तों से मिलते हैं इतने गुणकारी लाभ तभी तो कहते हैं इसको हकीम

नीम के पत्तों
नीम का पेड़ कितना गुणकारी होता है इस बात को हम सब जानते ही हैं । इसके गुणों के बारे में आज बहुत सारी जानकारी है और इसके और ज्यादा फायदे जानने के लिए इसके ऊपर वैज्ञानिक शोध चलते ही रहते हैं । आज हम आपको इस पेड़ के पत्तों से मिलने वाले कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं, तो चलिये जानते हैं नीम के पत्तों से मिलने वाले फायदों के बारे में ।

1 :- नीम के पत्तों का प्रयोग नम्बर एक :-

नीम के पत्ते मुँह के अंदर हो जाने वाले छालों में बहुत फायदा करते हैं । अक्सर मुँह के अंदर किसी इंफेक्शन के कारण या उचित रूप से सफाई ना होने के कारण छोटे छोटे छाले या अल्सर बन जाते हैं । नीम की पत्तियों को चबाने से यह इंफेक्शन खत्म हो जाता है और माउथ अल्सर से राहत मिलनी शुरू हो जाती है ।

2 :- नीम के पत्तों का प्रयोग नम्बर दो :-

नीम के पत्तें सिर में होने वाली रूसी की समस्या और फंगल संक्रमण के रोग में स्थायी समाधान देने में बहुत कारगर होते हैं । नीम के पत्ते लेकर उनको साफ पानी से धोकर मिक्सी में डालकर लेप तैयार कर लें । इस लेप को नहाने से आधा घण्टा पहले सिर में अच्छी तरह से बालों की जड़ों तक लगा लें । फिर आधा घण्टा बाद सिर और बालों को धो लें सिर की रूसी गायब हो जायेगी ।

3 :- नीम के पत्तों का प्रयोग नम्बर तीन :-

युवावस्था में नवयुवको और नवयुवतियों की मुख्य समस्या होती है चेहरे पर हो जाने वाले कील मुँहासे और पिम्पल की समस्या । ज्यादा दिक्कत तब बनने लगती है जब इनके निशान चेहरे पर हो जाने लगते हैं । नीम की पत्तियॉ इस समस्या में बहुत ही ज्यादा कारगर सिद्ध होती हैं । नीम की पत्तियों का उबटन बनाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे के पिम्पल की समस्या समाप्त हो जाती है ।
नीम के पत्तों से मिलने वाले फायदों की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से ही किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँचती है और हमको भी आपके लिए और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के सम्बन्ध में आपके कुछ सुझाव हों तो कृपया कमेण्ट करके हमको जरूर सूचित कीजियेगा ।

416 Post Views: 1 Views:
Please follow and like us:
0

1 Comment


  1. //

    Any aurvedic for sleep arpenia

Comments are closed.