भारतीय सेना के सर्जीकल स्ट्राइक की पूरी सच्चाई

loc-1474874352

भारतीय सेना के सर्जीकल स्ट्राइक की पूरी सच्चाई

जमुइ। उड़ी हमले के विरोध में बुधवार की रात दिलेरी के साथ जो सर्जीकल स्ट्राइक किया गया उससे जमुई के सभी आम व खास लोग खुश नजर आए। सबों ने इंडियन आर्मी के इस कार्रवाई की एक स्वर से प्रशंसा किया। साफ हो गया कि आतंकवाद को भारत का कोई भी व्यक्ति बर्दाश्त नहीं करेगा। पाक अधिकृत कश्मीर से संचालित आतंकवादियों के कैम्प में घुसकर भारतीय सेना के जवानों की कार्रवाई में 38 आतंकवादी मारे गए। उन्हें मदद पहुंचा रहे पाकिस्तानी सेना का दो जवान भी मारा गया। कार्रवाई के बाद हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया है। सभी अपनी-अपनी प्रतिक्रिया में देश के नेतृत्वकर्ता नरेन्द्र मोदी के साथ-साथ सेना के जवानों को बधाई देते नहीं थक रहे। जमुई के पूर्व विधायक अजय प्रताप ने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कूटनीतिक और देश की सामरिक जीत है। देश के मान-सम्मान के साथ अगर खिलवाड़ होगा तो उसका मुंहतोड़ जबाव देने के लिए हम तैयार हैं। आरएसएस के प्रचारक राकेश कुमार ने कहा कि भारतीय सेना ने यह कार्रवाई कर पूरी दुनिया को गुरिल्ला युद्ध की शैली से परिचित करा दिया। सर्वे भवंतु सुखिन: की भावना रखने वाला हमारा देश के साथ अगर कोई आंख दिखाकर बात करे तो भारत के प्रधानमंत्री इसे कतई बर्दाश्त करने को तैयार नहीं हैं। जरुरत पड़ी तो देश का एक-एक नौजवान पाकिस्तान और उसके आतंकवाद को सबक सीखाने के लिए खड़ा रहेगा।
आरएसएस से जुड़े कुंज बिहारी बंका ने कहा कि देश के दुश्मनों को ठिकाने लगाने के लिए सेना ने जो कार्रवाई की है उसके साथ पूरा देश खड़ा है। देशवासियों एवं सेना के मनोबल को बढ़ाने के लिए यह एक सराहनीय कदम है। सेना की इस कार्रवाई से पूरी दुनिया में यह संदेश जाएगा कि भारत आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा। बल्कि उसे सबक सिखाने के लिए ठोस कदम उठाने की क्षमता रखता है। आज भारत ने यह दिखाया कि हम भी शक्तिशाली हैं। समाजसेवी आईपी गुप्ता ने कहा कि हमारे जांबाज सिपाहियों द्वारा किया गया सर्जिकल आपरेशन उड़ी हमले में मारे गए शहीदों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है। पाकिस्तान को यह समझ लेना चाहिए कि अब पुराने दिन लद चुके हैं। उन्होंने भारतीय सेना, देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अजीत दोभाल की टीम को बधाई दी। भाजपा के जिलाध्यक्ष भास्कर सिंह ने कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर में घुसकर भारतीय सेना की कार्रवाई देश के मजबूत नेतृत्व का परिणाम है। पीएम नरेन्द्र मोदी के कथनी और करनी में समानता है। इस कार्रवाई से आज पूरा देश प्रधानमंत्री के साथ खड़ा है। भाजपा के वरिष्ठ नेता राजकिशोर सिन्हा ने भी इस कार्रवाई को सही कदम बताया है। कहा है कि इस कार्रवाई से यह साबित हो गया है कि हमारा मनोबल उच्च स्तर पर है। अपनी भूमि पर दुश्मनों से निपटने की चली आ रही नीति को छोड़कर घर में घुसकर मारने का माद्दा हमारी सेना रखती है।
संवाद सूत्र, झाझा(जमुई): बुधवार की रात हमारे सैनिकों ने जो कार्य किए हैं उसको पूरा देश सराह रहा है। पाकिस्तान के घर में घुस कर भारतीय सेना ने अपना मंसूबा जाहिर कर दिया है। उक्त बातें डीएसएम कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य अमरेन्द्र कुमार सिंह उर्फ सुमन सिंह सहित कई लोगों ने कही। रेफरल अस्पताल के प्रभारी डा. आबिद हुसैन ने कहा कि सेना की जो कार्रवाई बुधवार की रात हुई वह पहले ही हो जाना चाहिए था। डॉ अभय सिंह ने कहा कि भारतीय सेना ने अपनी धैर्य और वीरता का एक साथ परिचय दिया है उससे पूरी दुनिया में संदेश में मिला है कि भारतीय सहनशील होते हैं परंतु कमजोर नहीं। चैम्बर ऑफ कामर्स के महासचिव रामचंद्र वर्णवाल ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रणनीति और सेना की बहादुरी की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने जो कहा वो पूरा कर दिया। वरीय शिक्षिका विंदु कुमारी ने कहा कि पाकिस्तान को इसी तरह से जबाब देना होगा। आतंकवाद पूरे विश्व की समस्या है। जिसको मिटना बहुत ही जरूरी है। भाजपा नेत्री माधुरी पासवान ने सेना की बहादुरी और रणनीतिक अंजाम की सराहना करते हुए कहा कि आज पूरा देश को सेना के जवानों पर गर्व है। समाजसेवी सूर्यावत्स ने भारत सरकार के निर्णय को सही ठहराते हुए कहा कि पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से निपटकर उसी के स्टाइल में निपटाना होगा।
संवाद सूत्र, गिद्धौर :भाजयुमो के प्रदेश मंत्री मनीष कुमार पाडेय ने कहा कि भारतीय सेना ने पीओ के में घुसकर 38 आतंकवादियों को मौत के घाट उतारकर उनके सात ठिकानों को ध्वस्त कर उड़ी हमले में शहीद जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि दी है। सेना की बहादुरी से हम भारत वासियों का सीना चौड़ा हो गया है। उन्होंने विरोधियो को आगाह करते हुए कहा की 56 इंच के सीनेवाले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया को दिखा दिया की उनकी कथनी और करनी में कोई फर्क नही है
संवाद सूत्र, लक्ष्मीपुर: पाकिस्तान के अंदर घुसकर उसके आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने व कई आतंकियों को मार गिराने में भारतीय सेना को जो सफलता मिली। उससे पूरा देश गौरवान्वित हुआ है। भारतीय सेना की इस जवाबी कार्रवाई में देश के चौथे स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। ऐसा कहना है प्रखंड जदयू अध्यक्ष पवन कुमार रंजन का।
राजद व्यवसायिक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष रिंकू साह ने कहा कि देश की रक्षा के मामले में सेना ने जो कदम उठाया है वह सराहनीय है। हमें प्रारंभ से ही अपनी सेना की शक्ति पर भरोसा है। उन्होंने कहा कि आतंकियों के मामले में हमारा देश और हमारी सेना ने बहुत धैर्य दिखाया। बार-बार चेतावनी देने के बावजूद पाकिस्तान अपनी ओछी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था। पाकिस्तान की मंशा को एक बार कड़ी चुनौती देना जरूरी था। पाड़ो निवासी
डॉ बमबम पाडेय ने कहा कि भारतीय सेना को मिली इस सफलता के पीछे चौथे स्तंभ के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों उरी में हुए आतंकी हमले के बाद मीडिया ने अपनी जो भूमिका निभाई वह भारतीय सैनिकों की भूमिका से कमतर नहीं था उन्होंने कहा कि उक्त घटना के बाद मीडिया ने सरकार व सैनिकों को पाकिस्तान के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए आतरिक शक्ति प्रदान की थी। साथ ही उसने सभी राजनीतिक दलों को पाकिस्तान के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए एक मंच प्रदान किया था जो भारतीय सेना के लिए उत्प्रेरक साबित हुआ। जदयू के पप्पल झा कहते हैं कि भारतीय सेना की इस कार्रवाई के लिए उसे जितनी बधाई दी जाए।वह कम होगी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को भारतीय सेना की शक्ति का एहसास नहीं है और अभी भी वक्त है कि पाकिस्तान अपनी मंशा और विचार को बदले।

12093 Post Views: 3 Views:
Please follow and like us:
58